यह स्मूदी PCOD के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती है

Short Brief :- पीसीओडी (PCOD) क्या हैं? | पीसीओडी के लक्षण in hindi | पीसीओडी के लिए हेल्दी स्मूदी के फायदे | पीसीओडी के लिए मैग्नीशियम किक स्मूदी कैसे बनाएं? | पीसीओडी के लिए मैग्नीशियम किक स्मूदी बनानेकेलिए जरूरी सामग्री

PCOD की समस्या के कारण मांसपेशियों में दर्द, मूड स्विंग्स और एंग्जायटी जैसे कई लक्षण दिखाई देते हैं। इन्हें दूर करने के लिए स्वस्थ डाइट बहुत महत्वपूर्ण है। आप इस स्मूदी को ट्राई कर सकते हैं।

पीसीओडी (PCOD) के कारण महिलाओं के पीरियड्स और फर्टिलिटी दोनों प्रभावित होते हैं। शरीर में हार्मोनल असंतुलन बढ़ जाता है। जिससे कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजेन हार्मोन के संतुलन के खराब हो जाने से ओवरी में सिस्ट बनने लगती हैं। पीसीओडी में महिलाओं की ओवरी में छोटी-छोटी सिस्ट बन जाती हैं। हालांकि कुछ महिलाओं में ये गांठें नहीं होती हैं, लेकिन पीसीओडी के अन्य लक्षण देखे जा सकते हैं। मेडिकल सलाह के साथ-साथ, पीसीओडी के लक्षणों को कम करने के लिए स्वस्थ आहार और लाइफस्टाइल परिवर्तन बहुत महत्वपूर्ण हैं।

healthy diet for pcod

इसके लिए, आहार में कई प्रकार के पोषक तत्व शामिल करने की सलाह दी जाती है। यहां हम आपको एक स्वस्थ स्मूदी के बारे में बता रहे हैं, जो पीसीओडी के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है। इस कार्यक्रम में आहार विशेषज्ञ मनप्रीत जी जानकारी दे रहे हैं। मनप्रीत ने दिल्ली विश्वविद्यालय से पोषण में मास्टर्स किया है। वह हार्मोन और गट हेल्थ कोच हैं।

पीसीओडी के लक्षण (पीसीओडी के लक्षण in hindi)

पीसीओडी के लक्षण
  • पीरियड साइकिल का अनियमित होना
  •  पीरियड्स में दर्द अधिक होना
  • कमजोरी महसूस होना
  •  वजन बढ़ना
  •  शरीर में अनचाहे बालों का उगना
  •  मांसपेशियों में दर्द
  •  मूड स्विंग्स
  • पीरियड्स में सिर में दर्द
  • शुगर क्रेविंग्स
  •  एंग्जायटी 
  • नींद आने में मुश्किल

पीसीओडी के लिए हेल्दी स्मूदी के फायदे

  • मैग्नीशियम को पीसीओडी के लक्षणों को कम करने के लिए अच्छा माना जाता है। इस स्मूदी में प्रयोग किए गए सामग्री में मैग्नीशियम अधिक मात्रा में पाया जाता है।
  • केले मैग्नीशियम से भरपूर होते हैं। यह सहायक होता है शरीर में हार्मोन सेरोटोनिन उत्पन्न करने में, जो आपके मूड को नियंत्रित करता है।
  • बादाम मैग्नीशियम और ओमेगा-3 चरबी से भरपूर होते हैं। जो इंसुलिन संवेदनशीलता को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।
  • कद्दू के बीज मैग्नीशियम और जिंक से भरपूर होते हैं, जो मासिक धर्म के दर्द, सूजन, और मांसपेशियों के कम्पन को कम करते हैं।
  • दालचीनी रक्त संचार को सुधारती है। जिससे सिरदर्द को आराम मिल सकता है।
  • कोको मदद करता है खुशी के हार्मोन उत्पन्न करने में। जिससे मन की स्थिति अच्छी होती है और चिंता कम होती है।
  • नारियल पानी कब्ज को ठीक करता है और एस्ट्रोजन के विषैले पदार्थों को बहार निकालने में मदद करता है।

पीसीओडी के लिए मैग्नीशियम किक स्मूदी

पीसीओडी के लिए मैग्नीशियम किक स्मूदी सामग्री ओर कैसे बनाएं?

सामग्री

केला1 छोटा
बादाम5 भीगे हुए
कद्दू के बीज1 टीस्पून भीगे हुए
दालचीनी1 चुटकी
ककाओ पाउडर1 टीस्पून
नारियल पानी200 मि.ली.

पीसीओडी के लिए मैग्नीशियम किक स्मूदी कैसे बनाएं?

  • सभी सामग्री को एक साथ मिलाकर ब्लेंड करें।
  • आप इसे एक बार रोज़ पी सकते हैं।

अगर आपको किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो, तो कृपया नीचे लेख के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमें जानकारी दें। हम आपकी समस्या को हमारे लेखों के माध्यम से हल करने का प्रयास करेंगे।

यदि आपको यह कहानी पसंद आई, तो कृपया इसे शेयर करें। और आगे भी ऐसी अधिक जानकारी पढ़ने के लिए हिंदी ख़बरें से जुड़े रहें।

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment